दुनिया में पासपोर्ट के रंग सिर्फ चार ही क्यों


जानें पासपोर्ट के सिर्फ चार रंग होने का कारण

Source

अगर आप देश से कहीं बाहर जाना चाहते हैं, तो पासपोर्ट आपके लिए सबसे जरूरी है। जी हां पासपोर्ट एक सरकारी दस्तावेज है, जो अंतरर्राष्ट्रीय यात्रा के दौरान आपको आपकी राष्ट्रीयता प्रमाणित करने के लिए दी जाती है। अगर आपके पास पासपोर्ट नहीं है, तो आप किसी दूसरे देश की यात्रा नहीं कर सकते। पासपोर्ट में आपके नाम, जन्म तिथि, लिंग और जन्म स्थान की डिटेल होती है। पासपोर्ट ना सिर्फ देश से बाहर जाने, बल्कि अपने देश में वापस आने के लिए जरूरी है।

क्या आपको पता है कि देश भर में पासपोर्ट के सिर्फ चार रंग ही होते हैं। नीला, लाल, काला और हरा रंग। यहां तक की किस देश के पासपोर्ट का कौन सा रंग होगा इसके पीछे भी कुछ कारण है। तो आइए जानते हैं इन कारणों को-

1. लाल रंग


Source

लाल रंग पासपोर्ट में सबसे आम रंग है। जिन देशों का इतिहास साम्यवादी होता है या फिर वहां अब भी साम्यवादी सिस्टम ही चल रहा हो वहां के पासपोर्ट का रंग लाल होता है। चीन, सर्बिया, रूस, सोल्‍वेनिया, लात्‍विया, रोमानिया, पोलैंड और जॉर्जिया में लाल रंग के पासपोर्ट का इस्‍तेमाल होता है। साथ ही यूरोपीय यूनियन के सदस्य भी लाल रंग के पासपोर्ट का इस्तेमाल करते हैं। तुर्की, अल्बानिया और मखदूनिया ने भी कुछ समय पहले लाल रंग के पासपोर्ट को अपनाया। साथ ही बोलिविया, कोलंबिया, अक्‍वाडोर और पेरु जैसे देशों में लाल रंग का पासपोर्ट है।

2. नीला रंग

Source

पासपोर्ट कवर का दूसरा सबसे सामान्य रंग है नीला। अमेरिका से लेकर भारत तक कई ऐसे देश हैं जो अपने पासपोर्ट का रंग नीला पसंद करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि नीला रंग नई दुनिया का प्रतीक है और जो देश नई दुनिया का समर्थन करता है उस देश के पासपोर्ट कवर का रंग नीला होता है। दुनियाभर में ऐसे 15 कैरीबियाई देश हैं जिनके पासपोर्ट का रंग नीला है। ब्राज़ील, अर्जेंटीना और पेरुग्‍वे के पासपोर्ट का रंग भी नीला है। इस लिस्‍ट में वेनेजुएला का पासपोर्ट एक अपवाद है क्‍योंकि वहां पर लाल रंग का प्रयोग होता है। 1976 में अमेरिका में पासपोर्ट के लिए नीले रंग को अपनाया गया था।

3. हरा रंग

Source

ज्यादातर मुस्लिम देशों में हरे रंग के पासपोर्ट का इस्तेमाल किया जाता है। मोरक्‍को, सऊदी अरब और पाकिस्‍तान में पासपोर्ट का रंग हरा है। मुस्लिमों का मानना है कि हरा रंग पैगंबर मुहम्‍मद का पसंदीदा रंग है इसलिए मुस्लिम देश हरे रंग को ज्‍यादा प्राथमिकता देते हैं। कई पश्चिमी अफ्रीकी देशों जैसे बुर्किना फासो, नाइज़ीरिया, नाइज़र, आइवरी कोस्‍ट और सिनेगल में भी पासपोर्ट में हरे रंग का इस्‍तेमाल किया जाता है। इन देशों का मानना है कि हरा रंग इकोवास (इकनॉमिक कम्यूनिटी ऑफ वेस्ट ऐफ्रिकन स्टेट्स) यानि की पश्चिम अफ्रीकी राज्यों के आर्थिक समुदाय से उनके संबंध का प्रतीक है।

4. काला रंग

Source

पासपोर्ट के लिए काले रंग का इस्तेमाल बहुत ही कम लोग करते हैं। कुछ अफ्रीकी देशों जैसे बोत्सवाना, जांबिया, बुरुंडी, गैबन, अंगोला, कॉन्गो, मलावी एवं अन्यों का पासपोर्ट काले रंग का होता है। न्यूजीलैंड के नागरिकों के पास भी काले रंग का पासपोर्ट होता है क्योंकि यह उनका राष्ट्रीय रंग है।

इस मानचित्र के जरिए जानिए दुनिया के सभी देशों के पासपोर्ट का रंग

Source

भारत के पासपोर्ट का रंग गाढ़ा नीला है, जो यहां काला नजर आ रहा है

पासपोर्ट की अलग कैटेगरी

आप के लिए ये जान लेना भी जरूरी है कि दुनिया के अधिकतर देश अपने राजनयिकों, सरकार और शासन से जड़े अधिकारियों के लिए अलग रंग का पासपोर्ट जारी करते हैं। ऐसा इसलिए किया जाता है कि पासपोर्ट के रंग से उस व्यक्ति और उसकी महत्ता को आसानी से पहचाना जा सके।

भारत में भी पासपोर्ट की तीन श्रेणियां हैं। डिप्लोमैटिक पासपोर्ट, जिसका रंग मरुन होता है। ऑफिशियल पासपोर्ट, जिसका रंग सफेद होता है। रेगुलर पासपोर्ट, इसका रंग नीला होता है।


अपने विचार साझा करें


शेयर करें