निर्मला सीतारमण पेश करने जा रही है मोदी सरकार 2.0 के दुसरे कार्यकाल का पहला बजट, कई मायनों में ख़ास


फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण आज संसद भवन में मोदी सरकार 2.0 का पहला बजट पेश करने के साथ ही इतिहास रचेंगी. इतिहास इस लिए क्योंकि ये बजट कई मायनों में ख़ास है. आप ये भी कह सकते हो कि इस बार का ये बजट पुराने पेश किए गए बजट से कुछ मामलों में अलग है.

इस बार के बजट में सब से ख़ास बात ये है कि इस बार सरकार ने इसका नाम बदल दिया है. अब इसका नया नाम बही खाता है. इस सब के अलावा एक और जो चीज जो इस बार मोदी 2.0 के इस बजट को ख़ास बनती है वो है कि देश 49 साल बाद बाद किसी महिला को आम बजट पेश करते देखेगा.

इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 28 फरवरी 1970 को अपनी सरकार का बजट पेश किया था. उस वक़्त वे प्रधानमंत्री रहतें हुए वित्‍त मंत्री का अतिरिक्‍त प्रभार देख रही थीं.

इस बार का बजट ऐसे समय आ रहा है जब देश में अर्थव्‍यवस्‍था की स्थिति ज्‍यादा ठीक नहीं है. रोजगार की कमी है और निवेश की गति मंद है. इससे पहले मोदी सरकार छह बजट पेश किए हैं.

इस बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जब मंत्रालय पहुंचीं तो उन्होंने हर किसी को चौंका दिया. हर बार जब बजट की तस्वीर आती है तब वित्त मंत्री के हाथ में एक ब्रीफकेस रहता है. लेकिन इस बार कुछ अलग नजारा दिखा.

उसके हाथों में एक लाल रंग का कपड़ा था जिसमें बजट की कॉपी बंद थी. इस लाल कपडे में अशोक स्तंभ का चिन्ह बना हुआ है.

मोदी सरकार ने अपने पिछले कार्यकाल के अंतरिम बजट में पांच लाख तक की आमदनी को टैक्‍स फ्री किया था. देखना होगा कि आम बजट टैक्‍सपेयर्स के लिए टैक्‍स छूट 2.50 लाख आगे बढ़ेगी या नहीं?


अपने विचार साझा करें


शेयर करें