राहुल गांधी ‘मसूद अजहर जी’ बोलकर बुरे फंसे,अब हो रहे है ट्रोल


लोकसभा चुनाव से पहले देश की बड़ी पार्टियां लोगों को लुभाने में लगी हुई है. ऐसे में कोई भी पार्टी किसी भी गलती की गुंजाइश नहीं करना चाहेगी पर शायद राहुल गांधी को ये नहीं लगता है. क्योंकि कल जो हुआ उससे कांग्रेस पार्टी ने अपने ही पैरों में कुंडली मरने का काम किया है.

कल राहुल गांधी दिल्ली में बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन में थे, वहीं भाषण के दौरान राहुल गांधी बीजेपी को घेरने के चक्कर में आतंकी मसूद अज़हर को ‘मसूद अज़हर जी’ कह गए। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बार फिर चौकीदार चोर है कहकर निशाना साधा और कहा

‘पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 से 45 जवान शहीद हो गए थे। सीआरपीएफ बस पर किसने बम फोड़ा? जैश-ए-मोहम्मद…मसूद अजहर ने… आपको याद होगा ना? यह वही मसूद अजहर है, जिसे 56 इंच वालों की तब की सरकार ने एयरक्राफ्ट में मसूद अजहर जी के साथ बैठकर अजीत डोभाल कंधार में हवाले करके आ गए थे।’

इस बयान के बाद केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद के साथ साथ कई बीजेपी नेताओं ने ट्वीट कर राहुल गांधी और कांग्रेस पर आरोपों की झ़ड़ी लगा दी.

जिसके बाद विवाद को बढ़ता देख कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने राहुल का बचाव में ट्वीट किया उन्होंने लिखा


उन्होंने एक और ट्वीट में लिखा

‘राहुलजी के ‘मसूद’ कटाक्ष को जान-बुझ न समझने वाले भाजपाईयों व चुनिंदा गोदी मीडिया साथियों से 2 सवाल-: 1. क्या NSA श्री डोभाल आतंकवादी मसूद अज़हर को कंधार जा रिहा कर नहीं आए थे? 2. क्या मोदी जी ने पाक की ISI को पठानकोट आतंकवादी हमले की जाँच करने नहीं बुलाया? #BJPLovesTerrorists’

इसके बाद उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने राहुल गांधी पर कहा,

‘राहुल गांधी उतना ही बोलते हैं, जितना रटाया जाता है। जो लोग आतंकवादियों को बिरयानी खिलाते थे, आज वे सेना के शौर्य का सबूत मांग रहे हैं।‘ #RahulLovesTerrorists

अब इसे राहुल की गलती बोले या जबान फिसल ये तो पता नहीं, पर बीजेपी को सियासत करने का खुला मौका मिल थाली में सजा कर कांग्रेस अध्यक्ष ने दे दिया है. और इस बयान के बाद लोग राहुल को ट्रोल कर रहे है.

#1

#2

#3

#4


अपने विचार साझा करें


शेयर करें