पीस टीवी के फाउंडर जाकिर नाइक भारत आने को तैयार, पर रख दी ये शर्त


पीस टीवी के फाउंडर और इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक एक बार फिर से सुर्खियाँ बटोर रहे है, वजह है उनका हाल ही में एक न्यूज़ एजेंसी को दिया इंटरव्यू, जिसमे उसने भारत वापस आने की बात कही है पर कुछ शर्तो के साथ.

न्यूज़ एजेंसी ‘ द विक’ को दिए इंटरव्यू में नाइक ने कई बातें कही पर जो बात उसकी सब से ज्यादा चौकाने वाली थी. वो है उसका भारत वापस आने की बात कहना. जाकिर नाइक ने कहा उसे भारत की न्याय प्रणाली पर भरोसा तो है, लेकिन यह प्रणाली आज की तुलना में पहले बेहतर थी. भाजपा के सरकार में आने से पहले भारत में सरकार के खिलाफ बोला जा सकता था. कम से कम 80 प्रतिशत ऐसी उम्मीद भी थी कि आपको न्याय मिलेगा, लेकिन अब ये स्थिति 10 से 20 फीसदी रह गई है.

नाइक ने कहा, अगर आप इतिहास देखें, तो पाएंगे कि जिन मुस्लिमों पर आतंकवाद के इल्ज़ाम लगाए गए, उनमें 90 फीसदी को 10 से 15 साल बाद आज़ाद कर दिया गया. अगर मैं एक औसत लेकर चलूं, तो मुझे करीब 10 साल सलाखों के पीछे धकेल दिया जाएगा. इससे मेरे मिशन पर फर्क पड़ेगा. मैं क्यों बेवकूफ बनूं?

ज़ाकिर ने कहा कि अगर एनआईए चाहे तो वह मलेशिया में पूछताछ के लिए तैयार है. क्या न्याय का वादा मिलने पर नाइक भारत लौट सकता है? इस सवाल पर नाइक ने जवाब दिया, ‘अगर भारत का सुप्रीम कोर्ट ये निश्चित करे कि डॉ. ज़ाकिर नाइक का दोष सिद्ध होने तक गिरफ्तार नहीं किया जाएगा, तो मैं वापस आ सकता हूं’.

आप को बता दें कि जाकिर नाइक पर साल 2016 में बांग्लादेश की राजधानी ढाका में हुए आतंकी हमले के बाद एनआईए कई बड़े आरोप लगायें थे, जिसमे आतंवाद को बढ़ावा देने से लेकर मनी लॉन्ड्रिंग तक के कई आरोप उस पर है. आरोप लगने के बाद वो मलेशिया भाग गया था, जहाँ उसको मलेशिया की सरकार ने वहां की नागरिकता का आधिकार दे दिया.


अपने विचार साझा करें


शेयर करें