अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि “मैं भाग्यशाली हूं” पर आखिर क्यों


पिछले कुछ समये से देश में मीटू मूवमेंट के जरिए कई बड़े सेलेब्स पर यौन शोषण के आरोप लगे हैं. और अब बॉलीवुड अभिनेता और कुशल राजनेता शत्रुघ्न सिन्हा बुधवार कुछ ऐसा कह दिया की अब लोग उनकी आलोचना कर रहे है.

दरसल, कल यानि बुधवार को सिन्हा साहब लेखक ध्रुव सोमानी की पुस्तक ‘अ टच ऑफ एविल’ के विमोचन कर रहे थे इसी दौरान उन्होंने कहाँ कि प्रत्येक सफल व्यक्ति के पतन के पीछे एक महिला है. हालांकि, उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि वह मीटू आंदोलन का मजाक नहीं बना रहे हैं और उनकी टिप्पणियों को सही भाव में लिया जाना चाहिए. शत्रुघ्न सिन्हा ने यह भी कहा कि वह भाग्यशाली हैं कि तमाम हरकतों के बावजूद उनका नाम मीटू आंदोलन में नहीं आया.

उन्होंने आगे भी कहाँ कि “आज मीटू का समय है और कहने में कोई शर्म या संकोच नहीं होना चाहिए कि सफल व्यक्ति के पतन के पीछे महिला है. मैंने इस आंदोलन में जो देखा है उसमें सफल पुरुषों की परेशानियों और बदनामी के पीछे ज्यादातर महिलाएं हैं.”

शत्रुघ्न सिन्हा ने आगे बताया ‘मैं वास्तव में खुद को सौभाग्यशाली मानता हूं कि आज के समय में, तमाम हरकतें करने के बावजूद (सब कुछ जो मैंने किया है) मेरा नाम #MeToo मूवमेंट में नहीं आया है. इसलिए मैं अपनी पत्नी की बात सुनता हूं और अक्सर उसे अपनी ताकत के तौर पर हर जगह ले जाता हूं. वह मेरे साथ एक ढाल के रूप में हैं, भले ही कुछ भी न हो, मैं दिखा सकता हूं, ‘मैं अपने शादीशुदा जीवन में खुश हूं, मेरा जीवन अच्छा है.’

बता दें कि पिछलें साल बी-टाउन की कई नमी हस्तियों पर #MeToo ka आरोप लगे जिसमे जिनमे सब के बॉलीवुड के बाबु जी यानि अलोक नाथ और सुभाष घई पर भी आरोप लगा था. शत्रुघ्न सिन्हा शायद इसी बात से आहत हैं और अपने दिल की बात सामने रखते हुए बता दिया कि #MeToo अभियान में सभी शिकायतें सही नहीं हैं. किताब के विमोचन के मौके पर शत्रुघ्न सिन्हा के साथ उनकी पत्नी पूनम सिन्हा भी कार्यक्रम में मौजूद थीं.

अब उनके इस बयान पर लोग उन्हें ट्रोल कर रहे है. आप भी देखें लोगों ने क्या प्रतिक्रिया दी

#1

#2

#3

#4

#5

#6

#7

#8

#9

#10


अपने विचार साझा करें


शेयर करें