विराट कोहली को लेकर पूर्व भारतीय क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने बड़े पते की बात कही है!


भारत के महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने टीम में हो रही चयन प्रकिया पर सवाल उठायें है. गावस्कर का ये मानना है कि विराट कोहली को दोबारा कप्तानी सौपने से पहले एक बार अधिकारियों के साथ बैठक होनी चाहिए. उनका ये कहना था कि वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में भारत को मिली हार के बाद भी विराट कोहली को कप्तान बने रहना सेलेक्टर्स पर सीधा सलवा उठती है.

एक अंग्रजी अखबार में प्रकाशित अपने लेख में उन्होंने कहा है कि ‘अगर उन्होंने (चयनकर्ता) वेस्टइंडीज दौरे के लिए कप्तान का चयन बिना किसी मीटिंग के कर लिया तो यह सवाल उठता है कि क्या कोहली अपनी बदौलत टीम के कप्तान हैं या फिर चयन समिति की खुशी के कारण हैं.’
गावस्कर ने लिखा, ‘हमारी जानकारी के मुताबिक उनकी (कोहली) नियुक्ति विश्व कप तक के लिए ही थी. इसके बाद चयनकर्ताओं को इस मसले पर मीटिंग बुलानी चाहिए थी. यह अलग बात है कि यह मीटिंग पांच मिनट ही चलती, लेकिन ऐसा होना चाहिए था.’

आप को बता दें कि टीम इंडिया वेस्टइंडीज के दौरे पर जाने के लिए पूरी तरह से तैयार है. टीम सोमवार रात दौरे के लिए रवाना हो जाएगी.
सुनील गावस्कर ने मौजूदा सेलेक्ट्रेस पर भी सलवा उठाए है, उन्होंने लिखा कि मौजूदा समिति में एमएसके प्रसाद के अलावा शरणदीप सिंह, देवांग गांधी, जतिन पराजंपे और गनन खोड़ा शामिल हैं. इनमें से अंतिम दो ने सिर्फ वनडे क्रिकेट खेला है. सुनील गावस्कर ने कहा, ”अब जल्द ही नई चयन समिति का चुनाव होगा. उम्मीद है कि इसमें ऐसे स्तर के लोग होंगे जिन्हें आसान शिकार नहीं बनाया जा सकेगा और जो मैनेजमेंट के सामने अपनी बात मजबूती से रख सकेंगे.”

उन्होंने आगे लिखा कि वर्ल्ड कप में मिली हार पर टीम इंडिया कि बेकार रणनीति रही. उनका मानना था कि न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में टीम प्रबंधन को अनुभवी बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी को ऊपरी क्रम में भेजना चाहिए था. भारत की टीम पुरे वर्ल्ड कप में बेहतरीन खेलीं पर सेमीफाइनल में शुरुआती बल्लेबाज बहुत जल्दी आउट हो गए थे. जिसकी वजह से टीम शुरुआत में ही लड़खड़ा गयी और सेमीफाइनल हार गयी.


अपने विचार साझा करें


शेयर करें