टॉयलेट में मोबाइल लेकर जाने वालों की जान है बड़े खतरे में, कहीं आप भी तो नहीं करते ऐसी गलती?


‘रोटी, कपड़ा और मकान’ जैसी मूलबूत जरूरतों में अब एक चीज़ और शामिल हो चुकी है। इसके बिना आज हर कोई बिन पानी मछली जैसे तड़पने लगता है। अब तो आप समझ ही गए होंगे कि हम किसकी बात कर रहे हैं। स्मार्टफोंस हमारी ज़िन्दगी का अहम् हिस्सा बन चुका है। आज सुबह उठने के बाद सबसे पहले हम अपना फ़ोन चेक करते हैं। और रात में सोने से पहले स्मार्टफ़ोन ही वो आखिरी चीज है जिसके दर्शन हम करते हैं। और हो भी क्यों न, आखिर स्मार्टफ़ोन ने हमारी ज़िन्दगी को कितना आसान बना दिया है। हमें हर वक्त इसकी आदत सी हो गई है। यहां तक कि लोग इसे सुबह टॉयलेट में भी लेकर ही जाते हैं। पहले इसकी जगह लोग अखबार या मैगज़ीन लेकर जाया करते थे। लेकिन अब स्मार्टफ़ोन ने स्मार्टली इन सबको रिप्लेस कर दिया है। लेकिन यह बदलाव आपको एक बड़े खतरे की ओर लेकर जा रहा है।

फ़ोन का गिरना

अक्सर हाथ से फ़ोन गिर जाते हैं। लेकिन यही फ़ोन अगर टॉयलेट में गिर जाए तो?

ऐसी हालत में आपको आखिरकार वो करना पड़ेगा जो कोई कभी नहीं करना चाहता है।

कीटाणु फैलने की संभावना होती है अधिक

फ़ोन को टॉयलेट में ले जाने से हानिकारक बैक्टीरिया और वायरस फ़ोन से होकर आप तक आसानी से पहुंचते हैं। और इससे यह चारों तरफ जल्द ही फैल जाते हैं।

डॉ. अनचिता करमाकर कहती हैं-

हो सकता है कि आपने टॉयलेट में फ़ोन का प्रयोग नहीं किया हो, लेकिन आप उसे अपने साथ अंदर लेकर जाते हैं और इसी दौरान जब आप फ़ोन को छूते हैं तो बीमारियां फैलाने वाले कीटाणु उसमें आ जाते हैं।

डॉ. करमाकर आगे बताती हैं कि-

फ़ोन के कवर अमूमन रबर के बने होते हैं जो बैक्टीरिया के पनपने के लिए एक अच्छा माध्यम है। यह बैक्टीरिया मोबाइल तक पानी और हवा के जरिए पहुंचते हैं।
WedM के मुताबिक, बैक्टीरिया जैसे ई. कोली, कैंपिलोबैक्टर, शिगेला और साल्मोनेला और वायरस जैसे स्टेफ और गैस्ट्रो उस समय फैलते हैं जब लोग टॉयलेट में मोबाइल लेकर जाते हैं। इससे बीमार पड़ने की संभावना बहुत बढ़ जाती है। वही यह दूसरों लोगों तक भी तेजी से फैलता है और उन्हें भी बीमार कर देता है।

फ़ोन का भीग जाना

टॉयलेट फ्लश करते समय हो सकता है कि पानी के छींटे आपके फ़ोन तक पहुंचे। और इससे न सिर्फ आपका फ़ोन में तकनीकी खराबी आ सकती है बल्कि कीटाणु भी आपके फ़ोन तक आसानी से पहुंच सकते हैं।

डॉ. अनचिता के अनुसार,

फ्लश करते समय या किसी भी और वक्त टॉयलेट के आसपास टूथब्रश नहीं रखना चाहिए।

यह बात मोबाइल के लिए भी कही जा सकती हैं। आखिर इसी मोबाइल को हमें दिनभर इस्तेमाल करना है।
इसके अलावा, खाते समय फ़ोन को दूर रखें। क्योंकि जब आप मोबाइल के स्क्रीन को उंगलियों से छूते हैं और फिर उन्हीं उंगलियों से खाना खाते हैं तो कीटाणु बड़ी आसानी से आपके हाथों से आपके पेट में पहुंच जाते हैं। और आपकी यही आदत आपकी सेहत बिगाड़ने के लिए काफी है।
इसलिए मोबाइल को कभी भी टॉयलेट में लेकर न जाएं। साथ ही खाते समय इसे दूर रखें। साथ ही फ़ोन को नियमित रूप से साफ़ करें ताकि इस पर कीटाणु अपना बसेरा न बना सके। और आप हमेशा स्वस्थ रहें।

इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर कर दूसरों को भी बताएं, ताकि वो भी ऐसी जानलेवा गलती करने से बचें।


अपने विचार साझा करें


शेयर करें